Wednesday, September 15, 2010

राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर का निर्माण हो ?

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने देश के मुसलमानों का आ ान किया है कि वे खुद आगे आकर राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण की पहल कर दुनिया को बताएं कि उन पर लगने वाला विदेशपरस्ती का आरोप बेबुनियाद है। उन्होंने साफ किया कि हिंदुओं को नीचा दिखाने के लिए अयोध्या में मंदिर ढहाकर विवादित ढांचा बनाया गया था। हाई कोर्ट का फैसला 24 सितंबर को आने वाला है। उसके पहले संघ प्रमुख का यह बयान काफी मायने रखता है। दिल्ली में एक कार्यक्रम में भाग लेने आए भागवत ने कहा कि हर हिंदू चाहता है कि अयोध्या में राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर का निर्माण हो। चूंकि मामला अदालत में है, इसलिए वहां के निर्णय का इंतजार किया जा रहा है। फैसला जो भी हो, संघ की प्रतिक्रिया लोकतांत्रिक होगी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने दो टूक कहा कि आगे की कार्रवाई के लिए अगर सुप्रीम कोर्ट भी जाना पड़ा तो जाएंगे लेकिन यह बाद की बात है। उन्होंने कहा कि संघ इस मुद्दे पर देश को विभाजित नहीं देखना चाहता है इसलिए पिछले 5-6 साल से मुस्लिम नेताओं से बातचीत भी जारी है। उन्हें बताया जा रहा है कि राम मंदिर आंदोलन किसी भी रूप में मुसलमानों के खिलाफ नहीं है
Ramjanmbhumi Ramjanambhumi ayodhya 

4 comments:

dhratrashtra said...

sundar ati sundar.

Anonymous said...

badiya lekh......

Mrs. Asha Joglekar said...

सही कहा बिना विवाद के अगर फैसला हो जाता है सबसे अच्छा ।

डा. अरुणा कपूर. said...

...aap ke vichaaron se sehmat hun!