Tuesday, December 2, 2008

मुर्गी का अंडे सेना,शिवसेना और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना

बचपन में एकबार रजुआ ठाकरे ने बलुआ ठाकरे से पूछा कि काका जी! ये सेना क्या होता है? बलुआ ने एक मुर्गी की तरफ हाथ दिखा कर कहा कि देखो बेटा रजुआ ये मुर्गी क्या कर रही है। रजुआ ने उत्तर दिया कि काकाजी ये मुर्गी अपने अंडों के ऊपर बैठी है। बलुआ काका ने बताया कि रजुआ बेटा इसी को सेना कहते हैं, मुर्गी अंडे से रही है। फिर जब बलुआ काका को परिस्थितियों ने कान पकड़ कर मुर्गा बनाया तो वे कुछ लैंगिक समस्या के चलते मुर्गा बन तो गये लेकिन हरकतें मुर्गियों जैसी करने लगे। उन्होंने भी हिंदुत्त्व के मुद्दों के अंडे दिये और "सेना" शुरू कर दिया। इस प्रकार एक सेना बन गयी। अब जब रजुआ बड़ा हुआ तो उसे भी कुछ तो सेना था तो उसने थोड़ा छोटा अंडा दिया और उसे सेना शुरू कर दिया। शिवसेना और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के लोगों को सेना शब्द का अर्थ ही नहीं पता है। अरे मुर्गियॊं के चूजों! सेना उसे कहते हैं जो अभी मुंबई में आयी थी जिसे तुम लोगों ने जय महाराष्ट्र कह कर नहीं बल्कि जय हिंद कह कर धन्यवाद करा कि आपने हमारे शहर की रक्षा करी। बलुआ और रजुआ तो अपने बिलों में घुस कर मुद्दों के अंडे से रहे थे अपनी सेना वाली कला दिखा कर अब जब एक सप्ताह बीत जाएगा इस आतंकवादी घटना को उसके बाद फिर दोनो बलबलाने लगेंगे अपने अपने अंडे उछाल कर......

1 comment:

Umesh said...

Dear Kumarva,

Pagla gaye ho ka??

Yee kaa bak rahe ho?????

kahe mumbai main aavat ho?? Bihar main kahe nahi rahte ho??? hiyaan Balasaheb thakrey ke chalte hi mumbai ka progress hua hain. Usame tum log aa jate ho " Nahi dhoyi kakadi khayi"..........

Kuch aisan karo ke saara bharat ka log bihar aane ke liye taras jaave... Bihar ka economy strong karao.. idustrial acivities badhao... tourism badhao..... aur wahi pe biwi ke saath raho..

hum suna hoon ki tohar logan biwi wahan bihar main rahat hain aur tum marad log mumbaima rahat hain phir bhi tum baap ban jaat hain aur mumbai main laddu batat hain?? eii such hain ka???

tohar blog wa koaun sa "bhaiyya" padhega??? sabhi log to dudh nikal rahe hain ya phir machhee bech rahe hain.... unhe internet pata hain ka babua???

Tanik dusare ke upar kichad uchal ne pahle apne niche zankho babua...

ka samjhe nahi samjhe... samajh jaoge??? Mumbai aava jab mar padi tab samaj jaoge...

Jai maharashtra jai hind!!
Umesh